Sunday, 23 July 2017

लॉर्ड्स के मैदान में होगा इंग्लैंड और भारत के बीच खिताबी मुकाबला ,क्या कहते हैं आंकड़े।

World Cup India vs England 2017 final
picture credit -Reuter

 लॉर्ड्स के मैदान में होगा वर्ल्ड कप को पाने की आखिरी लड़ाई ,क्या कहते हैं भारत और इंग्लैंड के आंकड़े आये जाने।
भारत और इंग्लैंड के बीच आज 23 जुलाई 2017 को वर्ल्डकप पे कब्ज़ा करने की आखिरी मुकाबला खेला जाना हैं। 
अगर दोनों टीम के आंकड़ों की बात की जाये तो इंग्लैंड ने तीन बार वर्ल्डकप जीता है। इंग्लैंड ने विश्वकप 1973 ,1993 ,2009 में अपने नाम करने में कामयाबी हासिल की है। टीम की बात की जाये हीथर टीम की कप्तान हैं तथा टीम में आलराउंडर की भूमिका में नज़र आयी हैं। 
World Cup 2017 women India vs England
picture credit - icc 
भारत और इंग्लैंड की टीम के बीच कुल 62 मैच खेले गए हैं वही भारत ने 26 जीत हासिल की  इंग्लैंड ने 32 बार जीत हासिल की है ,वही लॉर्ड्स के घेरलू मैदान पे इंग्लैंड का पलड़ा थोड़ा भरी दिखता नज़र आ रहा है। घेरलू मैदान और लोगो का समर्थन भले हे इंग्लैंड का साथ देगी लेकिन 2017 में खेले गए लीग मैच में भारत ने इंग्लैंड को 35 रनो से मात दी थी।  
 पहला मुकाबला डर्बी में 24 जून को इंग्लैंड के विरुद्ध हुआ। 
भारत की बात की जाये तो ये दूसरे बार भारत फाइनल में पहुंची है। 2005 में भारत पहले बार फाइनल में प्रवेश की थी वही ये दूसरे बार होगा जब 2017 में भारत एक बार फिर फाइनल में प्रवेश पाया है , एक सुनहरा मौका होगा भारत के पास  है जब क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पे भारत इतिहास रच सकता है। 
हरमन प्रीत तथा कप्तान मिताली राज पुरे फॉर्म में हैं ,वही दीप्ती तथा वेदा ने मध्यक्रम को मजबूती दी है। वही पूनम भी अच्छे फॉर्म में हैं ,तेज़ गेंदबाज़ झूलन अच्छे फॉर्म में हैं तथा भारत के दो गेंदबाज़ एकता तथा राजेश्वरी ने अपने गेंदबाज़ी से सबको चकित कर दिया  ने 5 विकेट एक मैच में लिए हैं ,वही पहले लीग मैच में भारत की तरफ से स्मृति ने शानदार 72 गेंद पे 90 रनो की पारो खेली थी ,वही पूनम राउत ने 86 तथा कप्तान मिताली राज ने शानदार 71 रनो की पारी इंग्लैंड को बैकफुट पे जाने को मजबूर होंगे। 
वही लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंग्लैंड 246 रनो पे सिमट गयी। भारत की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज़ रहीं उन्नीस वर्षीय स्पिनर दीप्ति शर्मा ,उन्होंने 8.3 वरो में 47 रन दे कर 3 विकेट लिए थे। वही ये भारत की सम्भावनाओ और मनोदशा को मजबूती देगा। 
देखना दिलचस्प होगा की कौन से टीम वर्ल्ड कप के दबाव को सोख कर शानदार प्रदर्शन कर कप जीत पति है ,वही मिताली तथा झूलन का ये सायद आखिरी वर्ल्ड कप हो,भारत की टीम ज़रूर चाहेगी की उनको कप के साथ विदाई दी जाये जिस तरह सचिन तेंदुलकर को मिले थी ,सभी ने एक जूट होगा अपने सीनियर खिलाड़ी को विश्वकप ने समर्पित किया था। 

Share This
Previous Post
Next Post

I am a sports blogger . Love Cricket and Records , So stay updated with the Match and records .

0 comments: