Saturday, 8 July 2017

भारत में क्या कहता है कानून गर्भपात को ले कर जाने।


  • अगर आंकड़ों की बात की जाये तो भारत में हर घंटे असुरक्षित अबॉर्शन या कह लें गर्भपात से एक स्त्री का निधन हो जाता है। यह एक ऐसा पहलु है जिससे हमे समझना होगा और लोगो की बीच जागरूकता फैलानी होगी। महिलाओ को सेहत के प्रति खुद को जागरूक बनाना होगा वही पुरुषो को भी महिलाओ की हर संभव मदद करनी होगी। अगर देश की मेटरनल मटेलिटी रेशीओ के आकड़ो की मने तो ज्यादातर महिलाओ को अपने अधिकार तथा असुरक्षित अबॉर्शन के नुकसान के बारे में जानकारी ना होने कारन उन्हें अपने जिंद से हाथ धोना पड़ता है। वही सही जानकारी तथा जागरूकता से हम नई क्रांति ला सकते हैं।
  • भारत में क्या कहता है कानून गर्भपात को ले कर जाने।
  • मेडिकल टर्मिनेशन एक्ट के अनुसार 18 वर्ष की स्त्री अकेले तथा 18 वर्ष से कम उम्र की स्त्री अपने संरक्षक के लिखित अनुमति ले कर अपना गर्भपात करवा सकती है।
  • अगर स्त्री को अपने सेहत का खतरा हो जैसे की , उच्च रक्त चाप ,गर्भ के दौरान ज्यादा उलटी होना ,मिर्गी का दौरा ,मधुमेह होना इन सब कारन से अगर महिलाये ग्रसित हैं तो स्त्री अपना गर्भपात करवा सकती है।
  • दूसरे बात जो कानून के अन्तर्गत आती है ,भ्रूण में किसे तरह की परेशानी,या पहले कुछ महीने स्त्री को वायरल फीवर आना,तथा कुछ अन्य बातो पे भारतीय कानून गर्भपात की अनुमति देते है जैसे की अगर होने वाली माँ खुद बच्चे का पोषण करने में असमर्थ हो या गर्भनिरोधक में विफलता के कारन अनचाहा गर्भ ,इन सब बातो पे भारत का कानून महिलाओ को गहराभपात करने का हक़ देता है।
  • असुरक्षित गर्भपात के कुछ नुकसान जो की स्त्री को मालूम होना ज़रूरी है। असुरक्षित गर्भपात से दर्द ज्यादा होना ,अधिक ब्लीडिंग होना काफी बड़ी चिंता का विषय है। 
  • असुरक्षित गर्भपात के कारन संक्रमण जैसे की पेल्विक नाम की संक्रामक बीमारी। सेहत सम्बन्धी समस्या ,तेज़ बुखार। आज के समय में जब देश इतने उचाई पे है ,हर संभव तरीके हैं ठीक से गर्भपात करने के ,स्त्री को हमेशा ये पता होना चाहिए की शरीर उनका है और उसे किस तरह से वो सेहतमंद रेख सकती हैं ये उनपे निर्भर करता है वही गर्भपात के सम्बन्ध में हर दवा खाने में कैंप लगाया जाता है और जानकारी दे जाती है सभी जानकारी लेने की बाद हे कदम उठाये।

Share This
Previous Post
Next Post

I am a sports blogger . Love Cricket and Records , So stay updated with the Match and records .

0 comments: